आप सब 'पाखी' को बहुत प्यार करते हैं...

गुरुवार, जून 10, 2010

पाखी की शरारत

कई बार शरारतें कित्ती अच्छी लगती हैं. जैसे बकेट से नहाने की बजाय उसमें खड़े होकर मस्ती करना...

..और जब कोई निकलने को कहे तो उन्हें जीभ निकालकर चिढाना..

है ना मजेदार !!

एक टिप्पणी भेजें