आप सब 'पाखी' को बहुत प्यार करते हैं...

रविवार, जून 13, 2010

पाखी की सतरंगी छटा

अपनी फोटो देखना किसे अच्छा नहीं लगता और यदि कोई आपको ही ड्राइंग करे तो कित्ता मजेदार.
मुझे तो अपनी फोटो देखना बहुत अच्छा लगता है. और यदि कोई आपकी पेंटिंग बनाये तो कित्ता मजेदार.

और फिर आप डाक-टिकट पर भी दिखने लगें तो और भी मजेदार...

और ये आशू अंकल की तरफ से मेरा प्यारा सा चित्र..आपको भी पसंद आएगा .

32 टिप्‍पणियां:

Udan Tashtari ने कहा…

अरे वाह!! हर तरफ समीर अंकल की पाखी ही पाखी!!


बहुत सुन्दर!!

M VERMA ने कहा…

सुर्खियों मे पाखी

PBCHATURVEDI प्रसन्नवदन चतुर्वेदी ने कहा…

अच्छी प्रस्तुति........बधाई.....

डॉ टी एस दराल ने कहा…

ओए ! पाखी की इतनी सुन्दर तस्वीर किसने बनाई ?
मज़ा आ गया देखकर ।

Unknown ने कहा…

पसंद आयी ये दुनिया

संगीता पुरी ने कहा…

बहुत सुंदर तस्‍वीर !!

संजय भास्‍कर ने कहा…

पाखी की इतनी सुन्दर तस्वीर किसने बनाई ?

रवीन्द्र प्रभात ने कहा…

बहुत सुंदर तस्‍वीर,मज़ा आ गया देखकर ।

sanu shukla ने कहा…

behad sundar....


http://iisanuii.blogspot.com/2010/06/blog-post_12.html

Mrityunjay Kumar Rai ने कहा…

very creative work. very very congratulations to pakhi.

yesterday i have seen in news channel that there was a potential Earthquake in Andaman. it was also seen that Tsunami Alert was given. please ensure your safety. exercise disaster management tips as and when required. i wish for your safety and security.

God bless you

दीनदयाल शर्मा ने कहा…

पाखी की फ़ोटोज़ .....गजब...ये कौन चित्रकार है.....ये कौन चित्रकार...समीर अंकल ने...! इतनी सुन्दर......वाह....पाखी और चित्रकार समीर अंकल को........... ढेर सारी बधाई.... पाखी बिटिया....अपने समीर अंकल को कह कर हमें भी सिखा दो न...... इतने प्यारे चित्र बनाना .........

हिंदी साहित्य संसार : Hindi Literature World ने कहा…

अदभुत...नि:शब्द !!

Bhanwar Singh ने कहा…

कभी समीर जी पाखी के लिए कविता लिखते हैं तो रवि जी पाखी की पेंटिंग पर कविता लिखते हैं और अब यह पाखी को लेकर चित्रकारी...शुभकामनायें.

Bhanwar Singh ने कहा…

पाखी के जलवे...चारों तरफ पाखी की ही छटा...शुभकामनायें.

Bhanwar Singh ने कहा…

पाखी के जलवे...चारों तरफ पाखी की ही छटा...शुभकामनायें.

Dr. Brajesh Swaroop ने कहा…

वाह, पाखी डाक टिकटों पर भी...आखिरकार पापा डाक विभाग में बड़े अधिकारी जो हैं .

Unknown ने कहा…

वाह, इस अदभुत छटा के क्या कहने. पाखी को अपने स्नेह में बांधने के लिए हर कोई लालायित है.

बेनामी ने कहा…

अरे भाई, यहाँ तो ढेर सारी पाखी दिख रही हैं...अपनी पाखी को कहाँ ढूंढें.

बेनामी ने कहा…

वैसे पाखी की नन्हीं मनभावन अदाएं किसी इन्द्रधनुष से कम भी नहीं हैं, तभी तो छटा बिखेर रही है. हार्दिक शुभकामनायें.

रावेंद्रकुमार रवि ने कहा…

पाखी की है छटा निराली,
रंग सभी गाते कव्वाली!
इसकी ख़ुशबू ऐसे बिखरे,
ज्यों अंबर में बिखरे लाली!

Shyama ने कहा…

पाखी बेटू, यदि इसी तरह आप आगे बढती रहीं तो वो दिन दूर नहीं जब मम्मी-पापा की तरह आपकी फोटो /रचनाएँ भी तमाम जगहों पर दिखेंगीं...

आशीर्वाद व प्यार सहित.

Shyama ने कहा…

..आपके आशु अंकल को भी बधाई कि उन्होंने आपका सुन्दर चित्र भेंट किया.

Amit Kumar Yadav ने कहा…

पाखी, यह सतरंगी छटा तो हमें बहुत भाई.

Ram Shiv Murti Yadav ने कहा…

इतने सुन्दर चित्र किसने बनाये..कुछ हमें भी तो बताओ.

S R Bharti ने कहा…

पाखी की हर बात निराली है. तभी तो पाखी की छटा देखते ही बनती है..शुभकामनायें.

KK Yadav ने कहा…

क्या खूब चित्र हैं बिटिया पाखी के...जरा देखो तो इन्हें कौन बना रहा है. आशीष जी को शुभकामनायें जो उनकी मेहनत रंग लाई.

मन-मयूर ने कहा…

पाखी ! आपके आशु अंकल तो कमाल के निकले...बढ़िया-बढ़िया चित्र..बधाई.

शरद कुमार ने कहा…

उम्दा हैं पाखी..हमारा भी आशीष.

raghav ने कहा…

पाखी की इसी मासूम छटा के ही तो सभी मुरीद हैं..शुभकामनायें.

editor : guftgu ने कहा…

हर तरफ पाखी ही पाखी...सौभाग्यशाली है आप.

Akshitaa (Pakhi) ने कहा…

आप सभी लोगों को ये चित्र पसंद आए..बस यूँ ही अपना प्यार व आशीर्वाद बनाये रहें.

रावेंद्रकुमार रवि ने कहा…

मनभावन होने के कारण
चर्चा मंच पर

ख़ुशबू के छोड़ें फव्वारे!

शीर्षक के अंतर्गत
इस पोस्ट की चर्चा की गई है!