आप सब 'पाखी' को बहुत प्यार करते हैं...

रविवार, मई 09, 2010

मम्मी मेरी सबसे प्यारी (आज मदर्स डे)

आपको पता है आज मदर्स डे है. हर साल मई माह के दूसरे रविवार को यह सेलिब्रेट किया जाता है. मैं तो अपमी मम्मी से बहुत प्यार करती हूँ. मम्मी के बिना कोई काम तक नहीं करती. जब मुझे पहली बार स्कूल भेजा गया तो मैं मम्मी के लिए खूब रोई, पूरे एक साल. मुझे लगता था कि मम्मी को भी क्लास में मेरे साथ बैठना चाहिए. पर धीरे-धीरे बात समझ में आ गई कि यदि सभी बच्चों की मम्मी उनके साथ क्लास में बैठेंगी तो फिर क्लास कैसे चल पायेगी. आज तक ऐसा कभी नहीं हुआ की मम्मी कहीं गई हों और मैं उनके साथ नहीं हूँ.

आज मदर्स डे पर मैंने सुबह जगते ही मम्मी को विश किया और उन्हें एक प्यारा सा कार्ड और चाकलेट दिया. साथ में प्यारे-प्यारे गुलाब के फूल भी दिया और अपनी एक ड्राइंग भी दी. आज संडे भी है, सो पापा भी घर पर रहेंगे. शाम को हम लोग मरीना पार्क घूमने जायेंगे, जहाँ मैं खूब झूले झूलूँगी, स्लैडिंग करुँगी, सी-सा पर मस्ती करुँगी, हैंगिंग राड और स्प्रिंगी हार्स इंजॉय करुँगी. समुद्र के किनारे दूर तक घुमूंगी और बोटिंग भी करुँगी. और जब थक जायेंगे तो पापा हम लोगों को किसी रेस्तरां में शानदार डिनर कराएँगे.

मेरी मम्मी बहुत बढ़िया है। मुझे पता है कई बार मैं उन्हें बहुत परेशान करती हूँ पर मम्मी कभी बुरा नहीं मानती. मुझे ढेर सारा प्यार-दुलार देती हैं. मेरी मम्मी सबसे प्यारी हैं.
मम्मी मेरी सबसे प्यारी,
मैं मम्मी की राजदुलारी।
मम्मी प्यार खूब जताती,
अच्छी-अच्छी चीजें लाती।
करती जब मैं खूब धमाल,
तब मम्मी खींचे मेरे कान।
मम्मी से हो जाती गुस्सा,
पहुँच जाती पापा के पास।
पीछे-पीछे तब मम्मी आती,
चाॅकलेट देकर मुझे मनाती।
थपकी देकर लोरी सुनाती,
मम्मी की गोद में मैं सो जाती।






एक टिप्पणी भेजें