आप सब 'पाखी' को बहुत प्यार करते हैं...

मंगलवार, मई 04, 2010

आ गई गर्मी की छुट्टियाँ

कितने दिन से इंतजार था इस दिन का ... आ ही गया। अब 1 मई से गर्मी की दो महीने की छुट्टी हो गई. गर्मी भी कोई अच्छी लगने वाली चीज है, पर जब इसके साथ इत्ती छुट्टियाँ जुडी हुई हों तो फिर मजा तो आयेगा ही. अब अपने घर आज़मगढ़ और ननिहाल गाजीपुर घूमने जाऊँगी.

कित्ते दिन हो गए वहाँ गए. फिर बुआ की नन्हीं परी से भी तो मिलना है. दादी-दादा के साथ बैठकर ढेर सारी बातें करुँगी और चाचू को तो खूब परेशान करुँगी. मौसी की शादी के बाद उनसे पहली बार ननिहाल में मिलूँगी. नाना-नानी से ढेर सारी कहानियां सुनूँगी. मामा लोग आयेंगें तो उनके साथ भैया-दीदी लोग भी आएंगे..फिर तो खूब मौज और धमाल होगी. किसी का डर नहीं, कोई टेंशन नहीं, बस खूब मस्ती करूँगीं. जबसे अंडमान आई हूँ, पहली बार घर और ननिहाल जाऊँगी..अब तो मेरे पास भी बहुत कुछ है शेयर करने के लिए !!
एक टिप्पणी भेजें