आप सब 'पाखी' को बहुत प्यार करते हैं...

शनिवार, सितंबर 08, 2012

अब सबका अधिकार है पाना...


शिक्षा है अनमोल खजाना,
इसको कोई भूल न जाना।
विद्या और संस्कार है देती,
अब सबका अधिकार है पाना।

शिक्षित हो आगे बढ़ें हम,
जग में नाम कमाएंगे।
प्रगति पथ पर हो अग्रसर,
सुंदर काम कर जाएंगे।

शिक्षा देती है संस्कार,
बन विनम्र करें उपकार।
सद्गुण सारे अपनाएं,
उजियारा फिर फैलाएं।

पुस्तकों से परे भी सोचें,
सब शिक्षित खुशहाल बनें।
ज्ञान को आपस में बाँटें,
भारत अपना महान बने।

(आज 8 सितम्बर को विश्व शिक्षा दिवस है. पढने, पढ़ाने और लोगों को इस तरफ प्रेरित करने का दिन. आज के इस दिन पर पापा श्री कृष्ण कुमार यादव जी की यह खास कविता)
एक टिप्पणी भेजें