आप सब 'पाखी' को बहुत प्यार करते हैं...

रविवार, नवंबर 11, 2012

जगमग दीपावली आ गई

आजकल तो त्यौहारों की धूम है। अभी नवरात्र ख़त्म हुए, अब दीपावली का त्यौहार। दीपावली से पहले धनतेरस और छोटी दीपावली। दीपावली का त्यौहार मुझे बहुत अच्छा लगता है
लक्ष्मी-गणेश जी की पूजा, ढेर सारी रौशनी, दीयों की जगमग कतार, घर पर जगमगाती लड़ियाँ, फिर आतिशबाजी और मिठाइयाँ भला कैसे भूल सकती हूँ।
मुझे तो घर में दीये सजाना बहुत अच्छा लगता है, पर आतिशबाजी और पटाखे छोड़ना ज्यादा अच्छा नहीं लगता। कित्ता प्रदूषण होता है इससे। लोग हफ्ते भर पहले से ही पटाखे छुड़ाने लगते हैं जो कि मुझे बिलकुल नहीं पसंद है।दीपावली पर रंगोली बनाना भी कितना भाता है....ढेर सारे रंग और कल्पनाएँ । इस धनतेरस पर मैंने अपने लिए एक सोना का सिक्का भी ख़रीदा।
आप अभी लोगों को धनतेरस औए दीपावली पर ढेर सारी शुभकामनायें।
आप सबके आशीर्वाद और स्नेह का इंतजार रहेगा ।
एक टिप्पणी भेजें