आप सब 'पाखी' को बहुत प्यार करते हैं...

मंगलवार, अप्रैल 26, 2011

पाखी बनी क्लास-मानीटर


आज स्कूल की बातें. आपको तो मैंने बताया ही था कि अब मैं नर्सरी से के.जी.-I में चली गई हूँ. नई-नई बुक्स, नई-नई टीचर और कित्ती नई-नई बातें सीखने को मिलती हैं. मेरी नई क्लास टीचर का नाम सुमन मिस है. वह तो मुझे बहुत प्यार करती हैं.पहले नर्सरी में क्लास 7:30-9:30 तक था, पर अब तो 7:30 से 11:00 बजे तक हो गया है.

अब मैं अपने क्लास की मानीटर (Class Monitor) भी बन गई हूँ. सबसे पहले सुबह माइक लेकर प्रेयर करवाती हूँ. सभी बच्चों की कापी भी अब मैं ही कलेक्ट करती हूँ. जब भी कहीं जाना होता है तो सबसे आगे खड़ी होती हूँ, फिर मेरे पीछे सभी लोग लाइन लगाते हैं. मुझे तो यह भी देखना होता है कि सभी लोग सीधी लाइन में खड़े हैं या नहीं. इक बात और, जब क्लास टीचर क्लास में नहीं होती हैं तो मुझे क्लास का अनुशासन भी मेन्टेन करना होता है. यदि कोई मेरी बात नहीं मानता है तो मैं टीचर जी को बता देती हूँ, फिर टीचर जी उस बच्चे को समझाती भी हैं कि अच्छे बच्चों जैसा बिहैव करो. ..तो देखा मेरी जिम्मेदारी कित्ती बढ़ गई है.

..इक बात तो बताना भूल ही गई, मेरे इस ब्लॉग पर अब 150 पोस्ट हो गई हैं. यह ब्लॉग 24 जून, 2009 को आरंभ हुआ था. यह 151 वीं पोस्ट है !!
एक टिप्पणी भेजें