आप सब 'पाखी' को बहुत प्यार करते हैं...

मंगलवार, अगस्त 10, 2010

पापा का जन्मदिन आया



प्यारा-प्यारा दिन ये आया
पापा का जन्मदिन लाया
ढ़ेर सारी केक - मिठाई
और खूब चाकलेट लाया।

रंग-बिरंगे प्यारे-प्यारे
सज गए गुब्बारे न्यारे
मस्ती करूँ, धमाल करूँ
गिफ्ट मिले हैं कित्ते सारे।

मैंने तो एक कार्ड बनाया
फूलों से फिर उसे सजाया
ढ़ेर सारी आईसक्रीम, केक
मैने तो जी - भर खाया।

जन्मदिन पर पापा को
मैंने भी दी खूब बधाई
सबसे अच्छे मेरे पापा
खुशियों की बारात आई।

(आज पापा का जन्मदिन है. मैंने पापा के लिए एक प्यारा सा कार्ड अपने हाथों से बनाया. ..और यह कविता मेरे लिए ममा ने लिखी )

एक टिप्पणी भेजें