आप सब 'पाखी' को बहुत प्यार करते हैं...

बुधवार, जुलाई 04, 2018

नन्ही ब्लॉगर अक्षिता यादव ''मैं हूँ बेटी अवार्ड'' से होंगी सम्मानित

बेटियाँ अपनी मौजूदगी से पूरी दुनिया में अपना नाम रोशन कर रही हैं। इसी क्रम में भारत की सबसे कम उम्र की राष्ट्रीय बाल पुरस्कार विजेता एवं जोधपुर की नन्ही ब्लॉगर अक्षिता यादव (पाखी) को किंग जॉर्ज मेडिकल कॉलेज, लखनऊ में ''मैं हूँ बेटी अवार्ड'' से 5 जुलाई को सम्मानित किया जायेगा। हैप्पी ऑवर्स स्कूल, जोधपुर में कक्षा 6 की छात्रा अक्षिता के पिता श्री कृष्ण कुमार यादव राजस्थान पश्चिमी क्षेत्र, जोधपुर के निदेशक डाक सेवाएँ पद पर पदस्थ हैं और मम्मी श्रीमती आकांक्षा एक कॉलेज में प्रवक्ता रही हैं। 

अक्षिता सहित तमाम बहुमुखी प्रतिभा की बेटियों को यह सम्मान उत्तर प्रदेश सरकार के कैबिनेट सिंचाई मंत्री श्री धर्मपाल सिंह, परिवहन राज्य मंत्री श्री स्वतंत्र देव सिंह और उत्तर प्रदेश राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष जरीना उस्मानी द्वारा प्रदान किया जायेगा। उक्त जानकारी कार्यक्रम के संयोजक श्री राम प्रकाश वर्मा ने दी।

गौरतलब है कि अक्षिता को इससे पूर्व विज्ञान भवन नई  दिल्ली में भारत सरकार द्वारा ’राष्ट्रीय बाल पुरस्कार',  अंतर्राष्ट्रीय  ब्लॉगर्स सम्मलेन, नई दिल्ली में ’वर्ष की श्रेष्ठ नन्ही ब्लॉगर’ एवं ”हिंदी साहित्य निकेतन परिकल्पना सम्मान-2010” अवार्ड और  अंतर्राष्ट्रीय ब्लॉगर सम्मेलन, श्री लंका  में  ”परिकल्पना कनिष्ठ सार्क ब्लॉगर सम्मान” से सम्मानित किया जा चुका है। 








सोमवार, जुलाई 02, 2018

सबसे प्यारे मेरे पापा


सबसे  प्यारे मेरे पापा,
मुझको अच्छे लगते हैं।
अपनी खुशियाँ देखें मुझमें,
हरदम हँसते  रहते हैं।  

पापा  मुझको स्कूल छोड़ते,
फिर आफिस चले जाते हैं। 
शाम को फिर लेने आते,
कार में सैर कराते हैं।
पार्क में और माल घुमाते,
चॉकलेट खूब खिलाते हैं।
क्लास में मैं रहूँ अव्वल,
होमवर्क करवाते हैं।


फादर्स-डे (17 जून, 2018) पर अक्षिता (पाखी) का दैनिक युगपक्ष, बीकानेर-राजस्थान में 
प्रकाशित एक बाल-गीत


Summer Vacations in Mount Abu @ Boating in Nakki lake

गर्मी की छुट्टियों (Summer Vacations) का अपना अलग ही आनंद है। यहाँ जोधपुर में काफी गर्मी पड़ती है, इसलिए हम सभी ( मम्मी-पापा, अपूर्वा और मैं यानि अक्षिता (पाखी)  माउंट आबू घूमने चले गए। माउंट आबू राजस्थान का एकमात्र हिल स्टेशन है।  यहाँ पर घूमने के लिए ढेर सारी जगहें हैं। पर मुझे तो सबसे अच्छा लगा नक्की लेक, माउन्ट आबू में बोटिंग करने में। सुबह और शाम के समय यहाँ बोटिंग करने में खूब आनंद आता है। यहाँ आपके साथ कुछ पिक्चर्स शेयर कर रही हूँ।  















Enjoying Summer vacation with lots of fun in Mount Abu, Rajasthan.


अक्षिता और 'पाखी की दुनिया' से  अब फेसबुक पर भी जुड़ सकते हैं -


शुक्रवार, जून 22, 2018

अक्षिता व अपूर्वा को उपहार में मिली पुस्तकें - 'मुझे बनना है UPSC टॉपर' और 'शादी बंदर मामा की'


माउंट आबू प्रवास के दौरान वहाँ के SDM निशांत जैन अंकल ने हमें अपनी पुस्तकें 'मुझे बनना है UPSC टॉपर' और 'शादी बंदर मामा की' हमें (अक्षिता (पाखी) और अपूर्वा) उपहारस्वरूप दीं। 2015 बैच के IAS हिन्दी टॉपर  निशांत जैन अंकल एक अच्छे लेखक व बाल साहित्यकार भी हैं। आपका बहुत-बहुत धन्यवाद।


अक्षिता और 'पाखी की दुनिया' से  अब फेसबुक पर भी जुड़ सकते हैं -

गुरुवार, जून 21, 2018

International day of Yoga : अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस

विश्व भर में 'अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस' 21 जून को मनाया जाता है। यह दिन वर्ष का सबसे लंबा दिन होता है और योग भी मनुष्य को दीर्घ जीवन प्रदान करता है। पहली बार यह दिवस 21 जून 2015 को मनाया गया, जिसकी पहल भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने 27 सितम्बर 2014 को संयुक्त राष्ट्र महासभा में अपने भाषण से की थी, जिसमें उन्होंने कहा:
(Akshitaa (Pakhi) celebrating International day of Yoga, 21 June, 2018)

"योग भारत की प्राचीन परंपरा का एक अमूल्य उपहार है यह दिमाग और शरीर की एकता का प्रतीक है; मनुष्य और प्रकृति के बीच सामंजस्य है; विचार, संयम और पूर्ति प्रदान करने वाला है तथा स्वास्थ्य और भलाई के लिए एक समग्र दृष्टिकोण को भी प्रदान करने वाला है। यह व्यायाम के बारे में नहीं है, लेकिन अपने भीतर एकता की भावना, दुनिया और प्रकृति की खोज के विषय में है। हमारी बदलती जीवन- शैली में यह चेतना बनकर, हमें जलवायु परिवर्तन से निपटने में मदद कर सकता है। तो आयें एक अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस को गोद लेने की दिशा में काम करते हैं।"   —नरेंद्र मोदी, संयुक्त राष्ट्र महासभा
(Apurva celebrating International day of Yoga, 21 June, 2018)
जिसके बाद 21 जून को " अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस" घोषित किया गया। 11 दिसम्बर 2014 को संयुक्त राष्ट्र में 177 सदस्यों द्वारा 21 जून को " अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस" को मनाने के प्रस्ताव को मंजूरी मिली। प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के इस प्रस्ताव को 90 दिन के अंदर पूर्ण बहुमत से पारित किया गया, जो संयुक्त राष्ट्र संघ में किसी दिवस प्रस्ताव के लिए सबसे कम समय है।

Positive mind
Positive vibes
(In Picture : Akshitaa (Pakhi) and Apurva celebrating International day of Yoga, 21 June, 2018)

मंगलवार, जून 05, 2018

विश्व पर्यावरण दिवस पर पौधारोपण

आज विश्व पर्यावरण दिवस है। प्रकृति और पर्यावरण का संरक्षण बेहद जरुरी है। आज हमारे परिवार के सभी सदस्यों ने पौधारोपण किया।  मम्मी-पापा, मेरी प्यारी सिस्टर अपूर्वा और मैंने !
 Plant a tree, water a tree, save a life, save the earth. Let's pledge to make the world a greener place.
Every plant matters,, let's conserve environment by planting all type of plants 

The little efforts we make at a personal level add up to make a big difference in the end. Let us pray we get to save the only world that we have.


Save Trees, Save Earth, Save Environment.

The planet does not belong to us, we belong to the planet. Save it... Protect it and most importantly respect it.  

Take care of the earth & she will take care of you.


सोचिए, यदि हमारे आस-पास पेड़-पौधे न हों, मुस्कुराते फूल न हों, चिड़ियों की चहचहाहट न हो, भिन्न-भिन्न ऋतुएं न हों ......तो सब कुछ कितना सूना लगेगा। सो, अभी भी देर नहीं हुई है। यदि पहले से संजीदगी न रही हो तो अभी से शुरुआत कर लें !!
और हाँ, चलते-चलते यह प्यारी सी कविता भी, जिसमें एक खूबसूरत सन्देश भी छुपा है।  जिसने भी लिखी, उन्हें धन्यवाद के साथ -

 मैंने एक चिड़िया पाली..!
एक दिन वो उड़ गयी..!!

फिर मैंने  एक गिलहरी पाली..!
एक दिन वो भी चली गयी..!

फिर मैंने एक दिन एक पेड़ लगाया ..!
दोनों वापिस आ गये...!!


!! विश्व पर्यावरण दिवस की ढेर सारी शुभकामनाएँ !! 

शनिवार, जून 02, 2018

Drawing of Apurva in Kids Zone of the Times of India

हमारी प्यारी सिस्टर अपूर्वा जैसे-जैसे बड़ी हो रही हैं,इनकी क्रिएटिविटी भी बढ़ती जा रही है । ये भी हमारी तरह प्यारी-प्यारी ड्राइंग बनाती हैं । अभी इनकी एक ड्राइंग टाइम्स ऑफ इंडिया न्यूज पेपर में पब्लिश हुई है। टाइम्स ऑफ इंडिया में यह इनकी तीसरी ड्राइंग है।  आप भी इसे यहाँ देख सकते हैं-
Drawing of Apurva in Kids Zone of the Times of India, Jaipur, Rajasthan on 2nd June, 2018.
अपूर्वा की प्रतिष्ठित अख़बार टाइम्स ऑफ़ इण्डिया (जयपुर, राजस्थान) के किड्स जोन में प्रकाशित ड्राइंग 



(Apurva Yadav)




सोमवार, मई 21, 2018

एक शाम चोखी ढाणी, जयपुर में (Chokhi Dhani, The 5 Star Ethnic Village Resort, Jaipur)


इस बार हम पिंक सिटी जयपुर गए तो चोखी ढाणी रिजॉर्ट भी गए। पिछली बार  जब मैं जयपुर आई थी तो यहाँ जाना रह गया था, तभी पापा ने प्रामिस किया था कि समर वेकेशंस में अगली बार हम यहाँ जरूर जायेंगे। जब हम शाम को 7 बजे यहाँ पहुंचे तो हल्की-हल्की बारिश हो रही थी, पर घूमने का आनंद दुगुना हो गया। यहाँ पर हमने खूब इंजोय किया और ढेर सारी पिक्चर्स और सेल्फी भी क्लिक कीं।

राजस्थानी ग्रामीण संस्कृति की विभिन्न झलकियों को अपने में सहेजे यह रिजॉर्ट एक सुखद अनुभव कराता है। यहाँ तो पूरा हाट बाजार बसा हुआ है। मम्मी-पापा ने तो कुल्हड़ में चाय का आनंद लिया तो  मैंने व  अपूर्वा ने आइसक्रीम का।  फिर, पपेट शो, मैजिक शो को खूब इंजोय किया। बाईस्कोप, भूल-भुलैया, साँप-सीढ़ी के खेल के साथ निशानेबाजी के करतब व विभिन्न तरह के झूले का आनंद भी लिया। बोटिंग के साथ-साथ कैमेल व एलिफैंट राइडिंग का लुत्फ़ भी यहाँ लिया जा सकता है। 

राजस्थान का परम्परागत  कालबेलिया डांस और  घूमर डांस भी यहाँ खूब दिखा। इसके बाद तो हम टायर्ड फील करने लगे। हर एक घंटे बाद यहाँ डिनर मिलता है, जिसके लिए एडवांस में ही पास लेना पड़ता है। हम लोग डिनर के लिए गए। रॉयल परिवेश में हमने राजस्थानी थाली का खूब जायका लिया। हल्के संगीत के साथ कैन्डल लाइट डिनर का आनंद ही कुछ और था ।  

डिनर के बाद हमने यहाँ  हल्दीघाटी के युद्ध को देखा, जिसे बहुत सुंदर ढंग से जीवंत किया गया है। फिर, तिरुपति बाला जी व वैष्णो देवी मंदिर भी गए। अंत में कला-ग्राम में हमने राजस्थान के हैंडीक्राफ्ट का भी अवलोकन किया और वहाँ से कुछेक चीजें खरीदीं। 















वाकई घूमने के लिए यह एक शानदार जगह है। आप भी जयपुर जाइए तो चोखी ढाणी (Chokhi Dhani, The 5 Star Ethnic Village Resort, Jaipur) जरूर जाइएगा।