आप सब 'पाखी' को बहुत प्यार करते हैं...

शुक्रवार, मई 14, 2010

जब अख़बार में हुई पाखी की चर्चा

आपको याद है पहली बार अख़बार में आपकी फोटो कब प्रकाशित हुई थी. ...याद कीजिये. है न कठिन काम. शायद बर्थ-डे कॉलम में...नहीं, फिर स्कूल की पत्र-पत्रिका में..वो भी नहीं..फिर तो मुझे भी नहीं पता. हाँ, अपना पता है. विभिन्न पत्र-पत्रिकाओं में बर्थडे कॉलम की छोड़ दें तो किसी अख़बार में मेरी फोटो पहली बार 15 जुलाई, 2009 को प्रकाशित हुई थी और अख़बार का नाम था आई-नेक्स्ट (i-next). आज 14 जून, 2010 है यानी आज से 11 महीने पहले. चलिए आपको भी अख़बार का वो पेज दिखाती हूँ-

अब आप सोचेंगें कि ये बात मुझे कैसे याद आई. पिछले दिनों पापा ने अपने पर प्रलय का इंतजार नाम से एक पोस्ट लिखी, इस पोस्ट की चर्चा जनसत्ता अख़बार में भी हुई. इस लेख में बहुत कुछ मेरी बातें लिखी गई थीं. यह बात मैंने पापा को बताई थीं और अपने इस ब्लॉग पर विश्व पृथ्वी दिवस के अवसर पर लिखी भी थीं. अख़बार में अपने नाम देखकर बहुत अच्छा लगा. और अब जब स्कूल खुलेगा तो अपने टीचर को भी दिखाउंगी, वो भी बहुत खुश होंगीं. आप भी इसे पढ़िएगा- और हाँ चलते-चलते एक बात और याद आई कि दीनदयाल शर्मा अंकल जी ने अपने टाबर टोली (1-15 मई, 2010 अंक) अख़बार में भी मेरी ड्राइंग लगाई है. साथ में मेरी फोटो और मेरे बारे में भी. आप भी देखिये न और फिर बताइए कि कैसी है-


एक टिप्पणी भेजें