आप सब 'पाखी' को बहुत प्यार करते हैं...

शनिवार, अप्रैल 03, 2010

पाखी की जनगणना हो गई और आपकी...

आपकी जनगणना हुई क्या..मेरी तो आज हो गई. मेरे जन्म के बाद पहली बार जनगणना हो रही है, सो पहली बार मैं इसका हिस्सा बनी हूँ. सोचिये मेरे जैसे कितने प्यारे-प्यारे बच्चे/बच्चियाँ इन 10 सालों में आए होंगे और सभी की अब जनगणना होगी. और हाँ, जन्मदिन पर उपहार में मिली मेरी सायकिल को भी जनगणना करने वाली आंटी ने नोट किया. इसके अलावा टी.वी., कंप्यूटर , गाड़ी और भी कई चीजों के बारे में पूछा और नोट किया. अब इंतजार रहेगा कि कब ये गणना पूरी होगी और हमें अपने देश कि वास्तविक जनसँख्या पता चलेगी....एक बात और मैं सोच रही थी कि मैं तो यहाँ उत्तर प्रदेश से आई हूँ और वहाँ भी मेरे दादा-दादी जब जनगणना करने वाले अंकल/आंटी को अपने परिवार के बारे में बताएँगे तो कहीं मेरी गिनती वहाँ भी तो नहीं हो जाएगी, फिर तो मेरे जैसे कितने लोगों की गिनती दो-दो बार हो जाएगी। फ़िलहाल अपनी जनगणना होने से मैं खुश हूँ !!
एक टिप्पणी भेजें